न्यूटन के बारे में क्या हैं 20 अनोखी बातें ?जानें सच

3
1945
न्यूटन के बारे में रोचक तथ्य

दुनियां में हजारों ऐसे व्यक्ति पैदा हुए हैं जो ऐसा काम कर गए कि जब तक आधुनिक सभ्यता रहेगी उनका नाम हमेशा जिंदा रहेगा.सर आइजक न्यूटन के बारे में भी ये बात शत-प्रतिशत सत्य साबित होती है.न्यूटन ने प्रकृति के रहस्यों को अपनी विलक्षण प्रतिभा से खोज निकाले. चाहे गति के नियम हों,सार्वत्रिक गुरुत्वाकर्षण का नियम हो,प्रकाश के बारे में हो न्यूटन ने ये साबित कर दिया कि प्रकृति में सब कुछ संभव है,बसर्ते कि विज्ञान की नजरों से चीजों को देखा और परखा जाए.

न्यूटन के बारे में 20 अनोखी बातें

सर आइजक न्यूटन का जीवन परिचय:(Biography of Sir Isaac Newton)

इनका जन्म 25 दिसंबर 1642 को ब्रिटेन के लिंकन शायर वूल्सथार्प स्थान नें हुवा.इनके पिता का नाम भी आइजक न्यूटन ,माता का नाम हन्ना एस्काफ था.सर आइजक न्यूटन अविवाहित थे.ये ईसाई धर्म के अनुयायी थे.परिवार का पेशा कृषि था.

न्यूटन की प्रमुख खोजें :(Newton’s top searches)

न्यूटन ने physics के साथ-साथ गणित में कैलकुलस की भी रचना की.न्यूटन की  प्रमुख खोजें निम्नवत हैं-

  • न्यूटेनियन मैकेनिक्स (Newton’s mechanics)
  • यूनीवर्सल ग्रेविटेशन (Universal Gravitation)
  • कैलकुलस (Calculus)
  • ऑप्टिक्स (Optics)

न्यूटन का कार्यक्षेत्र :(Newton’s scope of work)

आइजक न्यूटन भौतिक विज्ञानी,गणितज्ञ के साथ-साथ एक चिंतनशील दार्शनिक भी थे.संक्षेप में हम उनके कार्यक्षेत्र को इस प्रकार देख सकते हैं.

  1. physics
  2. Astronomy
  3. Mathematics
  4. Philosophy
  5. Theology
  6. Natural Science.

ये भी पढ़े-अल्बर्ट आइंस्टीन केअनमोल वचन क्या बोले थे गांधीवाद पर?जानें

न्यूटन के बारे में 20 अनोखी बातें:(Some unique things about Newton)

न्यूटन जितने प्रतिभाशाली व्यक्ति थे उतना ही उनका जीवन कई विवादों से भी घिरा था.न्यूटन के विषय में जानते हैं कुछ अनोखी और विचित्र बातें:

  • सर आइजक न्यूटन जब पैदा हुए उनका वजन कुल 250 ग्राम था.
  • उनका बचपन अनाथ ब्च्चों की तरह बीता.
  • 27 वर्ष की आयु में ही न्यूटन  प्रोफेसर बन गए थे.
  • न्यूटन को राजकीय व्यक्ति घोषित किया गया उनका अंतिम संस्कार भी शाही सम्मान के साथ किया गया.
  •  शव को 8 दिनों तक जनता के दर्शन के लिए रखा गया.
  • ये भी अनोखी बात है कि न्यूटन ने अपने पिता को कभी नहीं देखा.
  • न्यूटन को कुछ लोग गैलीलियो का पुनर्जन्म मानते थे.क्योंकि उनका जन्म गैलीलियो की मृत्यु के 11 माह बाद हुवा था.
  • उनको फूल एकत्रित करने का शौक था.
  • आप आजीवन कुंवारे रहे.
  • उनके बाल हमेशा कंधों तक झूले रहते थे.
  • इन्होंने कभी भी धूम्रपान नहीं किया.
  • इनके विषय में एक और बात प्रमुख है,कभी भी चश्मा नहीं पहना.
  • बचपन में दिवारों पर चित्र बनाते थे.
  • जितना राजकीय सम्मान सर आइजक न्यूटन को मिला उतना किसी वैज्ञानिक को नहीं मिला.
  • संकोची स्वभाव के चलते उन्होंने 20 वर्ष तक अपनी  खोजों/रचनाओं को छिपाये रखा.उनको डर था कि उनके विचार को कोई चुरा न ले.
  • अपनी मां के अतिरिक्त उनको किसी और से लगाव नहीं था.
  • न्यूटन के बारे में एक रोचक तथ्य ये भी है कि-उनका कोई गहरा और निकटतम  दोस्त कोई नहीं था.
  • किसी ने पूछा कि गुरुत्वाकर्षण का सिद्धांत कैसे सिद्ध किया.न्यूटन ने उत्तर दिया था,’By Thinking on it Contineully.
  • Newton ने अपनी सभी खोजें भगवान के नाम पर की और ईश्वर को ही समर्पित की.
  • वे जीवनभर 150 किलोमीटर के दायरे से बाहर नहीं गए वहीं घूमते रहे.
  • अपनी मृत्यु के  वक्त न्यूटन लगभग 32000 पौण्ड की धनराशि छोड़ गए थे.उनकी कोई वसीयत नहीं थी.

सर आइजक न्यूटन की कहानी जिसने उनको बीमार कर दिया:

महान गणितज्ञ, भौतिक वैज्ञानिक, ज्योतिष एवं दार्शनिक  सर आइजक न्यूटन के बारे में हमने कई रोचक और अनोखे तथ्य सुने और पढ़े हैं ,लेेकिन यहां जिस कहानी का जिक्र मैं करने वाला हूँ उसने न्यूटन को गहरा आघात पहुंचा और वे  बीमार पड़ गए.

एक बार न्यूटन  अपनी स्टडी टेबल पर  कुछ कागज छोड़कर  गिरजाघर चले गए.मेज पर मोमबत्ती जली  हुई रह गयी.मेज के पास ही  उनका डायमंड नाम का कुत्ता सो रहा था.अचानक एक चूहे को देखकर कुत्ता उछला और जलती हुई मोमबत्ती मेज पर रखे कागजों पर गिर गयी.और कागज जल गए.न्यूटन जब गिरजाघर से वापस आये तो जले हुए कागज  दिखकर स्तब्ध रह गए.इन कागजों में उनकी प्रकाश संबधी खोजों के 20 वर्षों के परिणाम लिखे हुए थे.उस समय न्यूटन की आयु  50 वर्ष  थी.कुत्ते को अपनी गलती का अहसास था.कुत्ता दुम हिलाता हुवा न्यूटन के पास खड़ा हो गया,तो उनका मन इस बेजुबान जानवर के प्रति पसीज गया.न्यूटन ने उसकी पीठ थपथपाते हुए केवल इतना कहा ‘डायमंड,डायमंड,तू नहीं जानता ,तूने मेरा कितना नुकसान किया है.’कहते हैं इस दुर्घटना से न्यूटन के स्वास्थ्य पर गहराअसर हुआ और वे बीमार हो गए.

न्यूटन के प्रमुख नियम: (Newton’s Famous Laws)

कहा जाता है कि  एक सेव ने तीन लोगों का जीवन बदल दिया .और इन तीन लोगों ने संसार की सोच बदल दी.ये थे ईव,न्यूटन और स्टीव जॉब्स.न्यूटन के नियम classical physics की रीढ़ है.

 न्यूटन का सार्वत्रिक गुरुत्वाकर्षण का सिद्धान्त: (Universal Gravitational law of Newton)

“ब्रमांड में प्रत्येक कण दूसरे कण को अपनी ओर खींचता है या आकर्षित करता है.किन्हीं दो कणों या पिंडों के बीच लगने वाला आकर्षण बल उन पिण्डों के द्रव्यमान  के गुणनफल के अनुक्रमानुपाती तथा उनके बीच की दूरी के वर्ग के व्युत्क्रमानुपाती होता है.”

F=GMm/r2

न्यूटन के आविष्कार:

sir आइजक न्यूटन ने दुनियां को अदभुद खोजों से रूबरू कराया.जिनमें गति के नियम,गुरुत्वाकर्षण की खोज प्रमुख हैं.साथ ही उन्होंने कुछ अविष्कार भी किये.देखते हैं उनके 3 invention-

1-न्यूटन विधि Newton’s Method
2-रिफलेक्टिंग टेलिस्कोप Reflecting Telescope
3-न्यूटोनियन टेलिस्कोप Newtonian Telescope

CONCLUSION:
न्यूटन के बारे में जो भी जानकारी ऊपर दी गयी है ,ये अंश मात्र हैं.न्यूटन की अबूझ कहानियां/किस्से और विचारों की इतनी लंबी श्रृंखला है कि उसको एक लेख में पूरा करना संभव नहीं है.इस आर्टिकल को लिखने में मैंने”सर आइजक न्यूटन एक वैज्ञानिक संत”किताब की सहायता ली है जिसके लेखक विपुल विनोद और निधि विनोद हैं.आपको ये लेख कैसा लगा प्रतिक्रिया अवश्य दें.

3 COMMENTS

  1. Success is not final; failure is not fatal: It is the courage to continue that counts.” …
    “It is better to fail in originality than to succeed in imitation.” …Newton is genius and he is very profitable to the life of other people I hope that people like him born again and again in this universe and make our future better and beautiful….

    AMEN NEWTON🙏

  2. Success is not final; failure is not fatal: It is the courage to continue that counts.” …
    “It is better to fail in originality than to succeed in imitation.” …Newton is genius and he is very profitable to the life of other people I hope that people like him born again and again in this universe and make our future better and beautiful….

    AMEN NEWTON🙏

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here